आर्य वीरांगना योग एवं चरित्र निर्माण शिविर का हुआ भव्य समापन दोघट

*आर्य वीरांगना योग एवं चरित्र निर्माण शिविर का हुआ भव्य समापन*दोघट

 

सनबीम पब्लिक स्कूल दोघट में चल रहे नौ दिवसीय आर्य वीरांगना योग एवं चरित्र निर्माण शिविर का आज भव्य रीति से समापन हुआ. बालिकाओं द्वारा पीटी परेड, योगासन, जुडो कराटे, पिरामिड, स्तूप, लेसीलम, डम्बल रस्से पर योगासनों के साथ तीरंदाजी का सुन्दर प्रदर्शन किया गया. कन्या गुरुकुल चोटीपुरा की छात्रा वर्षा आर्या ने शिविर में भाग लेने वाली बालिकाओं को संदेश देते हुए कहा कि जो बातें आपने यहां पर सीखी हैं यदि उनको अपने जीवन में धारण करेंगे तो आपका जीवन सुखमय हो जाएगा. वर्षा आर्या द्वारा योगासनों का बहुत अच्छा प्रदर्शन भी किया गया. आचार्य धीरज आर्य ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि इस प्रकार के आयोजन में आपको बढ़ चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए और अपने बालक बालिकाओं को अधिक से अधिक इन शिविरों में भेजना चाहिए जिससे बालक वैदिक धर्म में दीक्षित होकर अपने जीवन का निर्माण कर सकें. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश में राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त वाचस्पति मिश्र, अध्यक्ष संस्कृत संस्थान उत्तर प्रदेश ने अपने वक्तव्य में वेद मंत्रों की झड़ी लगाते हुए कहा कि जब मन वचन और कर्म एक समान होते हैं तो व्यक्ति सफलता प्राप्त करता है.

 

 

 

 

उन्होंने कहा कि ऋत और सत्य को धारण किए हुए परमात्मा सृष्टि का निर्माण करता है. जो व्यक्ति जीवन में सत्य को धारण कर लेता है उसे कभी असफलता का मुंह नहीं देखना पड़ता. संसार का सर्वश्रेष्ठ ज्ञान वेद है. जो श्रेष्ठ वस्तु होती है सभी व्यक्ति उसको चाहते हैं कि यह मेरी संतानों को प्राप्त हो किंतु हम आर्य होकर वेद के श्रेष्ठ ज्ञान को अपनी संतानों को प्राप्त कराने का प्रबंध नहीं करते, यह इस देश की विडंबना है. उन्होंने कहा कि वैदिक संस्कृति के प्रचार प्रसार के लिए ऐसे शिविरों का आयोजन किया जाना अति आवश्यक है. यदि अपनी संतानों की रक्षा और उनकी उन्नति करना चाहते हो तो सभी को ऐसे शिविरों का अधिक से अधिक आयोजन करना चाहिए. देश में जिस प्रकार की परिस्थितियां बनती जा रही हैं, अप संस्कृति बढ़ रही है इससे बालिकाओं के लिए निरंतर नए खतरे पैदा होते जा रहे हैं ऐसे समय में इन शिविरों की महती आवश्यकता उत्पन्न हो गई है. कार्यक्रम की समाप्ति पर बालिकाओं को पुरस्कार वितरण किया गया. जिला सभा के अध्यक्ष राजेंद्र जी द्वारा सभी का धन्यवाद किया गया. कार्यक्रम में जनपद के सभी आर्यसमाजों, जिला आर्य प्रतिनिधि सभा तथा आर्य वीर दल बागपत के सभी पदाधिकारियों ने भाग लिया.

 

 

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *